Menu

Vela Writes

PageViews:

219877

राहुल गाँधी और थनोस| अवेंजर्स इंफिनिटी वार्स का खतरनाक ट्विस्ट| पार्ट-१

दिल्ली: प्रधान मंत्री मोदी पर एक बहुत घातक हमला करते हुए राहुल गाँधी ने 2019 चुनावो का श्री गणेश कर दिया है| पिछले कुछ दिनों में वैसे भी मोदी पर राहुल गाँधी ने बहुत तीखे हमले किये है| 

इनमे शामिल है नीरव मोदी, विजय मल्ल्या का देश छोड़कर भाग जाना, सीबीएसई का पेपर लीक| पर ये सब तो छोटे हमले थें| अब मुद्दा दुनिया को तबाही से बचाने का है| कांग्रेस पार्टी शांति से बैठ नहीं रही| राहुल गाँधी ने नरेंद्र मोदी पर तंज कस्ते हुए कहा है की अगर अवेंजर्स थनोस को नहीं रोक पाएंगे तो हमे शीध्र ही छोटा भीम को वाकाण्डा भेजना चाहिए|  क्या यही है श्री मोदी के अच्छे दिन| बाकी दुनिया के बाद हिंदुस्तान भी थनोस के निशाने पे आ सकता है| हमे इस घटना को हलके में लेने की गलती नहीं करनी चाहिए| तुरंत के तुरंत हमे अपने रिटायर्ड सुपरहीरोज़ को अमेरिका भेजना चाहिए पर उनको भाजपा ने आने वाले चुनावो के मद्देनज़र एक गेस्ट हाउस में बंद करके रखा है| हमारी मोदी जी से प्राथना है की चुनावो से ज्यादा महत्वपूर्ण है थनोस को हराना| 

राहुल गाँधी ने आने वाले कर्नाटक एलेक्शंस को भी आगे बढ़ने की डिमांड रख दी है और मन जा रहा है की जब तक 2019 में आने वाली अवेंजर्स 4 के साथ ये खतरा टल  नहीं जाता तब तक आपातकाल घोषित कर देना चाहिए| अप्रैल २७ में काम दिन रह गए है, ये सब कदम मोदी जी को जल्द से जल्द उठाने होंगे| 

 

 

राहुल गाँधी पर सीधा हमला करते हुए भाजपा ने वक्तव्य जारी करते हुए साफ़ कर दिया है की थनोस को रोकने के लिए अकेले मोदी जी ही काफी है| 56 इंच की छाती चाहिए थनोस को रोकने के लिए| ये कांग्रेस के बस की बात नहीं| आने वाले कर्नाटक एलेक्शंस में ये बात मोदी जी साबित कर देंगे की जनता को विश्वास है की अगर थनोस भारत पे हमला करता भी है तो मोदी कर्नाटक को ज़रूर बचा लेंगे| अगर कर्नाटक में भाजपा की सरकार हो तो| इसपर कांग्रेस प्रवक्ता में कड़ी प्रतिक्रिया ज़ाहिर करते हुए बताया की भाजपा गंभीर मुद्दों पर ध्यान नहीं दे रही|  अब देश में एक ही विकल्प है और वो है छोटा भीम... माफ़ कीजियेगा हमारा मतलब है राहुल गाँधी| राहुल की महत्त्व जनता को दर्शाने के लिए सुनने में आया है राहुल गाँधी थनोस से लड़ने बैंकाक माफ़ कीजियेगा वाकाण्डा जाएंगे| 

 

 

 

 

ये लेख सिर्फ मज़ाक के तौर पे लिखा गया है। इसका सत्य घटनाओ से कुछ लेना देना नहीं है। यदि ये आपकी भावनाएं आहत करता है तो आपके कंप्यूटर स्क्रीन पर सीधे हाथ पे ऊपर की तरफ कांटे का निशान है, कृपया करके उसे दबाये और इस लेख से मुक्ति पाए।

Go Back

Comment